व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं

vyaktivachak sangya : नमस्कार दोस्तों हम सभी जानते हैं कि संज्ञा के 5 प्रकार होते हैं। उन पांच प्रकार में से सबसे पहला प्रकार व्यक्तिवाचक संज्ञा होता है। आज की लेख में हम आपको व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे यह प्रतीक विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण है की व्यक्तिवाचक संज्ञा क्या होता है तथा व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं।

इस लेख में हम आपको व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में विस्तृत जानकारी देने वाले हैं यह जानकारी आम बोलचाल की भाषा में या फिर सरल भाषा में हम आप सभी को उपलब्ध कराने वाले हैं। जिससे कोई भी व्यक्ति व्यक्तिवाचक संज्ञा के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है तथा उसे आसानी से समझ सकता है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं

व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं

जब किसी व्यक्ति वस्तु, अस्थान का बोध कराने वाले संज्ञा को हम व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं या फिर वह संज्ञा जिसके द्वारा किसी व्यक्ति वस्तु अस्थान का बोध होता हो उसे हम व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं। व्यक्तिवाचक संज्ञा को इंग्लिश में प्रॉपर नाउन कहा जाता है इसका अर्थ व्यक्तिवाचक संज्ञा होता है।

इससे सम्बंधित लेख: संज्ञा किसे कहते हैं, परिभाषा, प्रकार

उदाहरण

व्यक्ति के नाम – भगत सिंह, रोहित, सुरेश, मनीष, आलोक इत्यादि।

स्थान के नाम – दिल्ली, नागपुर, आरा, बैतालपुर, गोरखपुर, नागालैंड, इंग्लैंड, अमेरिका, भारत, जापान आदि

दिशाओं के नाम- पूरब, पश्चिम, उत्तर, दक्षिण।

देवी देवताओं के नाम : ब्रह्मा जी , गणेश जी , मां दुर्गा जी, हनुमान जी, शिव जी आदि।

राष्ट्रीय जातियों के नाम- भारतीय, जापानी, अमेरिकी आदि ।

समुद्रों के नाम- प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिंद महासागर, आर्कटिक महासागर, अंटा्कटिक महासागर आदि ।

भाषाओं के नाम :- असमिया, बंगाली, बोडो, डोगरी, गुजराती, हिंदी, कश्मीरी, कन्नड़ ,आदि।

पहाड़ों के नाम :- माउंट एवरेस्ट, ट्रांस हिमालय, अरावली पहाड़ी, आदि।

समाचार पत्रों के नाम :- हिन्दुस्तान (समाचार पत्र), मिशन जयहिन्द, चौथी दुनिया, पाञ्चजन्य, नई दुनिया, नवभारत टाइम्स, आज, प्रभात खबर, आदि।

ऐतिहासिक युद्धों और घटनाओं के नाम- मेहरगढ़, बिम्बिसार के पुत्र अजातशत्रु का राज्यकाल, सम्पूर्ण दक्षिण भारत में आर्यों का प्रभुत्व।

उपाधि एवं पुरस्कारों के नाम :- डॉक्टर, सर, गार्गी, अर्जुन,भारत रत्न आदि।

सरकारी योजनाओं के नाम :- प्रधान मंत्री जन-धन योजना (पीएमजेडीवाई) , जन-धन से जन सुरक्षा, प्रधानमंत्री जीवन ज्योजति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई), प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई), अटल पेंशन योजना (एपीवाई), प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, स्टैंंड अप इंडिया योजना, आदि।

व्यक्तिवाचक संज्ञा की पहचान

व्यक्तिवाचक संज्ञा का प्रयोग हमेशा एकवचन में किया जाता है। इस संज्ञा को एक वचन से बहुवचन में परिवर्तन नहीं किया जा सकता है।

कई बार व्यक्तिवाचक संज्ञा का प्रयोग विशेषण की तरह भी किया जाता है।

इस संज्ञा से भाववाचक संज्ञा का निर्माण नहीं किया जा सकता है।

व्यक्तिवाचक संज्ञा के उदाहरण (Vyakti Vachak Sangya Examples in Hindi)

आरुशी भाभी घर जा रही है।
आलोक क्रिकेट खेल रहा है।
सचिन घर जा रहा है।
अमित ने राष्ट्रगान गाया।
अमिताभ बच्चन एक फिल्म अभिनेता है।
रोहित के पिता अध्यापक नहीं है।
राजेश के पिता बहुत खड़ूस है।

उपर लिखे वाक्यों में प्रयुक्त हुए नाम आरुशी, आलोक, सचिन, अमित, अमिताभ, रोहित, राजेश, आदि ये सभी व्यक्तियों का बोध नहीं कराके एक विशेष व्यक्ति का बोध करा रहे हैं। इसलिए ये व्यक्तिवाचक संज्ञा की श्रेणी में आयेंगे।

लेख के अंत में

मुझे उम्मीद है कि आप सभी को हमारे द्वारा लिखी गई और लेख पसंद आई होगी और आप यह पूरी तरह से समझ पाए होंगे कि व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं  जैसा कि हमने इस लेख में जाना व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं इन सभी विषयों को जानने के बाद मुझे पूरी उम्मीद है कि अगर आपकी कोई भी सवाल या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट करके अपने सवाल यह सुझाव हमारे साथ साझा कर सकते हैं इस साइट पर अपना कीमती समय देने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद इस प्रकार की जानकारी को पाने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग को suscribe कर सकते हैं।

Leave a Comment