समांगी मिश्रण किसे कहते है | मिश्रण किसे कहते हैं | इनके प्रकार और परिभाषा

Amazon और Flipkart पर गारंटीड 50% से 60% तक की छुट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े। ​

समांगी मिश्रण किसे कहते है, मिश्रण की परिभाषा, इनके प्रकार, समांगी और विषमांगी मिश्रण में अंतर इन सभी के विषय में आज की इस लेख में जानेंगे।

हम कैसे जान सकते हैं कि बाज़ार से खरीदा हुआ दूध, घी, मक्खन, नमक, मसाला, मिनरल जल या जूस शुद्ध हैं? क्या आपने कभी इन खाने वाले पदार्थों के डिब्बों के ऊपर लिखे ‘शुद्ध’ शब्द पर ध्यान दिया है? एक साधारण व्यक्ति के लिए शुद्ध का अर्थ होता है कि पदार्थ में कोई मिलावट न हो लेकिन, वैज्ञानिकों के लिए ये सभी वस्तुएँ विभिन्न पदार्थों के मिश्रण हैं, अतः शुद्ध नहीं हैं।

उदाहरण के लिए दूध जल, वसा, प्रोटीन आदि का मिश्रण है। जब एक वैज्ञानिक किसी पदार्थ को शुद्ध कहता है तो इसका तात्पर्य है कि उस पदार्थ में मौजूद सभी कण समान रासायनिक प्रकृति के हैं। एक शुद्ध पदार्थ एक ही प्रकार के कणों से मिलकर बना होता है। घुले हुए सोडियम क्लोराइड को वाष्पीकरण या आसवन विधि द्वारा जल से पृथक् किया जा सकता है।

यद्यपि, सोडियम क्लोराइड अपने आप एक शुद्ध पदार्थ है और इसे भौतिक विधि के द्वारा इसके रासायनिक अवयवों में पृथक् नहीं किया जा सकता है। इसी प्रकार चीनी एक पदार्थ है क्योंकि यह एक ही प्रकार का शुद्ध अवयव रखता है और इसका यौगिक समान रहता है। जब हम अपने चारों ओर देखते हैं तो पाते हैं कि सभी पदार्थ दो या दो से अधिक शुद्ध अवयवों के मिलने से बने हैं, उदाहरण के लिए, समुद्र का जल, खनिज, मिट्टी आदि सभी मिश्रण हैं।

मिश्रण क्या है? मिश्रण एक या एक से अधिक शुद्ध तत्वों या यौगिकों से मिलकर बना होता है। हम जानते हैं कि जल में पेय पदार्थ और मिट्टी में एकसमान कण नहीं हो शुद्ध पदार्थ किसी भी स्रोत से प्राप्त हो इसके अभिलाक्षणिक गुण एकसमान होंगे। इस प्रकार हम कह सकतें हैं कि मिश्रण में एक से अधिक शुद्ध पदार्थ होते हैं।

आपने कई बार बचपन से दो अलग-अलग चीजो को किसी एक चीज में मिलाया होगा। क्या आप जानते है उसे रसायन की भाषा में क्या कहते है। उसे रसायन की भाषा में मिश्रण कहते है। आज की इस लेख में मिश्रण की परिभाषा से शुरुआत करते है।

समांगी मिश्रण किसे कहते है
समांगी मिश्रण किसे कहते है

मिश्रण किसे कहते है

दो या दो से अधिक यौगिको को मिलाने पर मिश्रण प्राप्त होता है|

मिश्रण के गुण :- 

  • मिश्रण में मिलाए गए अवयवों या पदार्थ को आसानी से अलग अलग कर सकते है।
  • मिश्रण में उपस्थित प्रत्येक अवयव अपने रासायनिक गुणों को प्रदर्शित करता है। 
  • मिश्रण में अवयवों की मात्रा किसी भी अनुपात में हो सकती है। 
  • मिश्रण को बनाने वाले पदार्थ या अवयव किसी भी अवस्था में हो सकते हैं अर्थात ठोस, द्रव या गैस अवस्था में हो सकते हैं।

मिश्रण के दो प्रकार होते हैं: समांगी मिश्रण और विषमांगी मिश्रण

समांगी मिश्रण किसे कहते है

समांगी मिश्रण  वह मिश्रण है। जिसमें प्रत्येक भाग का रासायनिक संघटन व गुणधर्म एक समान होता है ऐसे मिश्रण को समांगी मिश्रण कहते हैं। जैसे: जल व चीनी का मिश्रण

विषमांगी मिश्रण किसे कहते है?

विषमांगी मिश्रण: विषमांगी मिश्रण व मिश्रण है जिसमें प्रत्येक भाग का रसायनिक संघटन और गुण धर्म एक समान नहीं होता है। ऐसे मिश्रण को हम विषमांगी मिश्रण कहते हैं। जैसे: जल व रेत का मिश्रण

समांगी और विषमांगी में अंतर

1.मिश्रण जिसमें अभियान समान रूप से मिश्रित रहते हैंमिश्रण जिसमें अभियान असमान रूप से मिश्रित रहते हैं
2.समांगी मिश्रण में तत्वों को अलग-अलग करके देखा नहीं जा सकतासमांगी मिश्रण में तत्वों को अलग-अलग करके देखा जा सकता
3.अभी आई तत्वों को भौतिक प्रक्रम आसानी से पृथक नहीं किया जा सकताअभी आई तत्वों को भौतिक प्रक्रम आसानी से पृथक नहीं किया जा सकता
4.उदाहरण जलवा चीनी का बिलयन नमक व जल का बिलयनउदाहरण जल व रेत का विलयन, 

सारांश

यदि आपकों यह लेख (समांगी मिश्रण किसे कहते है) पसंद आई है तो कृपया इसे अपने दोस्तों और जरूरतमंद लोगों के साथ social media पर शेयर जरूर करें। साथ ही इस लेख से सम्बंधित कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं।

यह भी पढ़े: Uttak Kya Hai |उत्तक क्या है

मिश्रण किसे कहते है

मिश्रण क्या है? मिश्रण एक या एक से अधिक शुद्ध तत्वों या यौगिकों से मिलकर बना होता है। हम जानते हैं कि जल में पेय पदार्थ और मिट्टी में एकसमान कण नहीं हो शुद्ध पदार्थ किसी भी स्रोत से प्राप्त हो इसके अभिलाक्षणिक गुण एकसमान होंगे। इस प्रकार हम कह सकतें हैं कि मिश्रण में एक से अधिक शुद्ध पदार्थ होते हैं।

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

Leave a Comment

Trending Post

Request For Post