वाक्य किसे कहते हैं (परिभाषा, भेद एवं प्रकार) | Vaakya Kise Kahate Hain

प्रिय पाठक! Allhindi के इस नये लेख में आपका स्वागत हैं। आज की इस लेख में आप वाक्य किसे कहते हैं , इसकी परिभाषा, भेद तथा उदाहरण के बारे में आप सभी को विस्तार से बताया जायेगा।

इस लेख के मुख्य शीर्षक
4 रचना के आधार पर वाक्यों के भेद [Rachna ke aadhar par Vaakyo ke Bhed]

वाक्य किसे कहते हैं [Vaakya Kise Kahate Hain]

वाक्य (Sentence): दो या दो से अधिक शब्दों के सार्थक (जिसका कुछ अर्थ हो) समूह को, वाक्य कहते हैं। या फिर शब्दों का वह समूह जो अपने भाव या अर्थ को पूर्ण रूप से स्पष्ट कर दे। उसे वाक्य कहते हैं। वाक्य के दो भाग होते हैं। उद्देश्य और विधेय

उदाहरण: निशांत तीरंदाजी सीखता है।
वह मुझे गाली नहीं देती हैं।
आप मेरी बातों से नाखुश है।

वाक्यों का भाग [Vaakyo ke Bhag]

वाक्यों के दो भेद होते हैं

  • उद्देश्य
  • विधेय

उद्देश्य किसे कहते हैं [uddeshya kise kahate hain]

उद्देश्य: वाक्य में जिस व्यक्ति या वस्तु के बारे में कुछ कहा जाए, उसे उद्देश्य कहते हैं। या फिर वाक्य में जिस किसी की भी बात हो या फिर वह किसी कार्य को कर रहा हो उसे उद्देश्य कहते हैं। उद्देश्य को कर्त्ता भी कहते हैं।

उदाहरण: गीता चाय पी रही थी।
अभिराज गीत गाता है।

ऊपर के वाक्यों में गीता और अभिराज के विषय में कुछ कहा गया है, अत: ये उद्देश्य है।

विधेय: वाक्य में उद्देश्य के बारे में जो कुछ भी कहा जाता हैं, उसे विधेय कहते हैं। विधेय को English में Predicate कहते हैं।

उदाहरण: विनीत दूध पी रहा है।
लड़के क्रिकेट खेलते हैं।

ऊपर के वाक्यों में दूध पी रहा है. तथा क्रिकेट खेलते हैं, अपने उद्देश्यों के विषय में कुछ बता रहे हैं, अतः ये विधेय हैं।

पदक्रम किसे कहते हैं [Padkram Kise Kahate Hain]

पदक्रम: वाक्यों को बनाने के लिए वाक्यों में अर्थ एवं परस्पर संबंध के अनुसार शब्दों को उचित स्थान पर स्थापित करने की क्रिया की पदक्रम कहते हैं। वाक्य की पूर्णता के लिए पदक्रम का विशेष महत्त्व है।

वाक्य किसे कहते हैं

रचना के आधार पर वाक्यों के भेद [Rachna ke aadhar par Vaakyo ke Bhed]

(1) रचना के आधार पर: रचना के आधार पर वाक्य के तीन भेद होते हैं

  • सरल वाक्य
  • संयुक्त वाक्य
  • मिश्रित वाक्य

सरल वाक्य किसे कहते हैं [Saral Vaakya Kise Kahate Hain]

सरल वाक्य: जिन वाक्यों में केवल एक ही उद्देश्य तथा एक ही विधेय होता है, उन्हें सरल वाक्य कहते हैं। सरल वाक्य को English में Simple Sentence कहते हैं।

उदाहरण: बादल गरज रहे हैं।
लड़के नदी में नहा रहे हैं।

संयुक्त वाक्य किसे कहते हैं [Sanyukt Vaaky Kise Kahate Hain]

संयुक्त वाक्य: जिन वाक्यों में दो या दो से अधिक सरल वाक्य समुच्चयबोधकों के द्वारा आपस में जुड़े होते हैं, उन्हें संयुक्त वाक्य कहते हैं। संयुक्त वाक्य को English में Compound Sentence कहते हैं।

उदाहरण: संजय गा रहा है और नीला नाच रही है।
बादल गरज रहे हैं किंतु वर्षा नहीं हो रही है।

मिश्रित वाक्य किसे कहते हैं [Mishrit Vaakya Kise Kahate Hain]

मिश्रित वाक्य: जिन वाक्यों में एक मुख्य उपवाक्य हो तथा एक या अधिक आश्रित उपवाक्य हो, उन्हें मिश्रित वाक्य कहते हैं। मिश्रित वाक्य को English में Complex Sentence कहते हैं।

उदाहरण: उसने देखा कि कार आ रही है।
मुख्य उपवाक्य  उसने देखा कि
आश्रित उपवाक्य  कार आ रही है।

मैं उसको पहचानता हूँ जिसने मेरी मदद की थी।
मुख्य उपवाक्य  मैं उसको पहचानता हूँ
आश्रित उपवाक्य  जिसने मेरी मदद की थी।

अर्थ के आधार पर वाक्यों के भेद

अर्थ के आधार पर वाक्य के 8 भेद होते हैं

  • विधानवाचक वाक्य
  • निषेधवाचक वाक्य
  • प्रश्नवाचक वाक्य
  • संकेतवाचक वाक्य
  • आज्ञावाचक वाक्य
  • इच्छावाचक वाक्य
  • संदेहवाचक वाक्य
  • विस्मयवाचक वाक्य

विधानवाचक वाक्य किसे कहते हैं [ VidhaanVachak Vaaky Kise Kahate Hain]

विधानवाचक वाक्य: जिन वाक्यों से किसी कार्य के करने या पूर्ण होने का बोध हो, उन्हें विधानवाचक वाक्य कहते है।

उदाहरण:अतुल गेंद खेलता है।
कुतुबमीनार दिल्ली में है।

निषेधवाचक वाक्य किसे कहते हैं [ Nishedhvaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

निषेधवाचक वाक्य: जिन वाक्यों से किसी कार्य के न करने या होने का बोध हो, उन्हें निषेधवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: यह एक फूल नहीं है।
हमने चाय नहीं पी है।

प्रश्नवाचक वाक्य किसे कहते हैं [Prashnvaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

प्रश्नवाचक वाक्य: जिन वाक्यों से प्रश्न पूछे जाने का बोध हो, उन्हें प्रश्नवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: वह क्या लिखती है?
आपके पिता जी कहाँ काम करते हैं?

संकेतवाचक वाक्य किसे कहते हैं [Sanketvaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

संकेतवाचक वाक्य: जिन वाक्यों में एक कार्य दूसरे कार्य पर निर्भर हो, उन्हें संकेतवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: जब तुम खाओगे, तो मैं भी खाऊँगा।
यदि तुम मेहनत करोगे, तो सफलता अवश्य मिलेगी।

आज्ञावाचक वाक्य किसे कहते हैं [Aagyavaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

आज्ञावाचक वाक्य: जिन वाक्यों से प्रार्थना, आज्ञा या आदेश का बोध हो, उन्हें आज्ञावाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: कृपया शांत हो जाइए।
यहाँ से निकल जाओ।

इच्छावाचक वाक्य किसे कहते हैं [Ichachhavaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

इच्छावाचक वाक्य: जिन वाक्यों से आशीर्वाद, इच्छा तथा शुभकामना आदि भावों का बोध हो, उन्हें इच्छावाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: ईश्वर आपका कल्याण करें।
अब हमें सो जाना चाहिए।

संदेहवाचक वाक्य किसे कहते हैं [sandeshvaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

संदेहवाचक वाक्य: जिन वाक्यों में किसी कार्य के होने या न होने में संदेह या संभावना का बोध हो, उन्हें संदेहवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण: शायद वह भूखा है।
शायद आज वर्षा बंद नहीं होगी।

विस्मयवाचक वाक्य किसे कहते हैं [Vismayavaachak Vaaky Kise Kahate Hain]

विस्मयवाचक वाक्य: जिन वाक्यों से हर्ष, शोक, घृणा, आश्चर्य आदि भावों का बोध हो, उन्हें विस्मयवाचक वाक्य कहते हैं।

उदाहरण:शाबाश तुम जीत गए।
वाह कितना सुंदर भवन है।

विशेषण की परिभाषा भेद और उदाहरण जानेपढने के लिए क्लिक करे
कारक किसे कहते हैं जाने पूरी जानकारीपढने के लिए क्लिक करे
समास किसे कहते हैंपढने के लिए क्लिक करे

वाक्य से जुड़े कुछ सवाल

प्रश्न: वाक्य के कितने भाग होते हैं?

उत्तर: वाक्य के दो भाग होते हैं। 1. उद्देश्य 2. विधेय

प्रश्न: उद्देश्य किसे कहते है?

उत्तर: वाक्य में जिस व्यक्ति या वस्तु के बारे में कुछ कहा जाए, उसे उद्देश्य कहते हैं।

प्रश्न: क्या उद्देश्य को ही कर्त्ता कहते हैं?

उत्तर: हां उद्देश्य को ही कर्त्ता कहते हैं

प्रश्न: विधेय किसे कहते हैं?

उत्तर: वाक्य में उद्देश्य के बारे में जो कुछ भी कहा जाता हैं, उसे विधेय कहते हैं। विधेय को English में Predicate कहते हैं।

Leave a Comment