लेंस किसे कहते है | लेंस के प्रकार | उत्तल और अवतल लेंस

नमस्कार दोस्तों, आज की इस लेख में हम जानने वाले है की लेंस किसे कहते है, लेंस के कितने प्रकार होते है उत्तल लेंस किसे कहते है इन सभी के बारे में जानने के लिए इस लेख को पढ़े

लेंस किसे कहते है

लेंस किसे कहते है

लेंस (Lens): पारदर्शक और समांग माध्यम का वह भाग जो दो वक्रपृष्ठों या एक वक्रपृष्ठ और एक समतल पृष्ठ से घिरा हुआ हो , लेन्स कहलाता है । ” दो गोलीय पृष्ठों से घिरा पारदर्शी माध्यम लेंस कहलाता है।

लेंस कितने प्रकार के होते हैं

मुख्यतः लेंस दो प्रकार के होते हैं।

  1. उत्तल लेंस
  2. अवतल लेंस

उत्तल लेंस की परिभाषा

उत्तल लेंस (Converging lens): उत्तल लेन्स बीच में मोटा तथा किनारों पर पतला होता है । यह किरणों को एकत्रित करता है| उत्तल लेंस प्रकाश किरणों को अभिसरित या केन्द्रित करता है। इसीलिए उत्तल लेंसों को अभिसारी लेंस भी कहते हैं। यह लेंस दूर दृष्टि दोष के निवारण के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

Converging lens

यह भी पढ़े:

अवतल लेंस की परिभाषा

अवतल लेन्स (Concave Lens): अवतल लेन्स बीच में पतला और किनारों पर मोटा होता है । अवतल लेंस प्रकाश किरणों को अपसारित करता है या फैलाता है। ऐसे लेंसों को अपसारी लेंस कहते हैं। यह लेंस निकट दृष्टि दोष के निवारण के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

Concave Lens

उत्तल लेंस के प्रकार:

उत्तल लेंस तीन प्रकार के होते हैं । 

उभयोत्तल लेंस 
समतलोत्तल लेंस 
अवतलोत्तल लेंस

उभयोत्तल लेंस

वे लेंस जिनके दोनों पृष्ठ बाहरी तरफ उभरे हुए हो ऐसे लेंस को अभी उभयोत्तल लेंस कहते हैं।

समतलोत्तल लेंस: 

समतलोत्तल लेंस दो शब्दों से मिलकर बना होता है समतल और उत्तल वह लेंस जिसका एक भाग या एक पृष्ठ समतल हो तथा दूसरा पृष्ठ उभरा हुआ हो उस लेंस को हम समतल उत्तल लेंस कहते हैं|

अवतलोत्तल लेंस

अवतलोत्तल लेंस दो शब्दों से मिलकर बना होता है अवतल लेंस उत्तल इसका अर्थ होता है एक भाग उभरा हुआ और एक भाग ढका हुआ है| वह लेंस जिसमें एक पृष्ठ अवतल हो तथा दूसरा पृष्ठ उभरा हुआ हो इस प्रकार के लेंस को हम अब अवतल उत्तल लेंस कहते हैं|

अवतल लेंस के प्रकार:

  1. उभयावतल लेंस
  2. समतलावतल लेंस
  3. उत्तलावतल लेंस

उभयावतल लेंस

वह लेंस जिसके दोनों पृष्ठ अवतल हो ऐसे लेंस को उभयावतल लेंस कहते हैं।

समतलावतल लेंस

वह लेंस जिसमें एक भाग आपका समतल होता है तथा दूसरा पृष्ठ उत्तल होता है इस प्रकार के लेंस को हम समतलावतल लेंस कहते हैं।

उत्तलावतल लेंस

वह लेंस जिसमें एक भाग आपका उभरा हुआ होता है तथा दूसरा भाग दबा हुआ होता है इस प्रकार के लेंस को हम उत्तलावतल लेंस कहते हैं

गोलीय लेंस

गोलीय लेंस- प्रत्येक लेंस कांच के खोखले गोले का एक भाग होता है अतः इन्हें गोलीय लेंस कहते हैं। गोली लेंस मुख्यत दो प्रकार के होते हैं

लेंस से जुड़े कुछ जरूरी परिभाषाये:

वक्रता केन्द्र: किसी लेंस में चाहे वह उत्तल हो अथवा अवतल दो गोलीय पृष्ठ होते हैं। इनमें से प्रत्येक पृष्ठ एक गोले का भाग होता है। इन गोलों के केन्द्र लेंस के वक्रता केन्द्र कहलाते हैं। LENSES लेंस के दो वक्रता केन्द्र हैं इसलिए इन्हें C तथा C2 द्वारा निरूपित किया जाता है।

मुख्य अक्ष- किसी लेंस के दोनों वक्रता केन्द्रों से गुजरने वाली एक काल्पनिक सीधी रेखा लेंस की मुख्यअक्ष कहलाती है।

प्रकाशिक केन्द्र- लेंस का केंद्रीय बिंदु इसका प्रकाशिक केन्द्र कहलाता है। इसे प्रायः अक्षर 0 से निरूपित करते हैं।

मुख्य फोकस-प्रकाश की किरणें लेंस से अपवर्तन के पश्चात मुख्य अक्ष पर एक बिंदु पर अभिसरित (उत्तल लेंस) या एक बिंदु से अपसरित होती प्रतीत होती हैं (अवतल लेंस) । यह बिंदु लेंस का मुख्य फोकस कहलाता निरूपित किया जाता है। किसी लेंस में दो मुख्य फोकस होते हैं। इन्हें F1 तथा F2 द्वारा निरूपित करते हैं ।

Q: लेंस बनाने के लिए किसका उपयोग किया जाता है?

A: फ्लिंट ग्लास 

Q: लेंस का सूत्र क्या होता है?

A: 1/f = 1/v – 1/u

Q: उभयोत्तल लेंस किसे कहते है?

A: वे लेंस जिनके दोनों पृष्ठ बाहरी तरफ उभरे हुए हो ऐसे लेंस को अभी उभयोत्तल लेंस कहते हैं।

Q: गोलीय लेंस किसे कहते है?

A: प्रत्येक लेंस कांच के खोखले गोले का एक भाग होता है अतः इन्हें गोलीय लेंस कहते हैं। गोली लेंस मुख्यत दो प्रकार के होते हैं

इस लेख का सारांश

इस लेख में हमने आपको बताया की लेंस किसे कहते है। हम आशा करते हैं कि हमारी यह पोस्ट आपकों पढ़ कर अच्छा लगा होगा। यदि आपकों यह लेख पसंद आई है तो कृपया इसे अपने दोस्तों और जरूरतमंद लोगों के साथ social media पर शेयर जरूर करें. साथ ही इस लेख से संबंधित कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं

Leave a Comment