कंप्यूटर का उपयोग कहाँ कहाँ होता है?

Amazon और Flipkart पर गारंटीड 50% से 60% तक की छुट पाने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल से जुड़े। ​

प्रिय पाठक! allhindi.co.in पर आप सभी का स्वागत है। क्या आप जानते है कंप्यूटर का उपयोग कहा कहा होता है? अगर आपका जवाब ना है तो आज की इस लेख में आप इन्ही के बारे में जानेंगे।

कंप्यूटर का उपयोग कहा कहा होता है?

कम्प्यूटर के उपयोग (Uses of Computer): प्रारम्भ में कम्प्यूटर का उपयोग गणना करने में मनुष्य की सहायता करने वाली मशीन के रूप में किया जाता था, लेकिन जैसे–जैसे इसका विकास होता गया और इसकी क्षमताएँ बढ़ती गईं, वैसे–वैसे इसके अधिकाधिक उपयोग की सम्भावनाएँ भी बढ़ने लगीं। वर्तमान में, हमारे जीवन का शायद ही कोई ऐसा क्षेत्र हो, जहाँ कम्प्यूटर का प्रयोग नहीं हो रहा हो। हमारे जीवन के विविध क्षेत्रों में कम्प्यूटर के उपयोग के बारे में यहाँ संक्षेप में बताया जा रहा है। के

कंप्यूटर का उपयोग कहा कहा होता है?
कंप्यूटर का उपयोग कहा कहा होता है?

व्यापारिक क्षेत्र में कंप्यूटर का उपयोग (In Commercial Field)

कम्प्यूटरों का उपयोग प्रारम्भ में केवल वैज्ञानिक कार्यों में किया जाता था। इससे बाहर के क्षेत्र में पहली बार व्यापारिक कार्यों में कम्प्यूटरों का अनुप्रयोग शुरू हुआ। व्यापारिक कार्यों से हमारा तात्पर्य सामान्य हिसाब–किताब करने और सूचनाएँ रखने, जैसे-लिपिकीय कार्य से है। वास्तव में कार्यालयों में कम्प्यूटरों के उपयोग हेतु उचित वातावरण पहले से ही था, क्योंकि कम्प्यूटर के आविष्कार से पहले ही लिपिकीय कार्यों में छिद्रित
कार्डों के द्वारा हिसाब–किताब मशीन (Accounting Machine) तथा जोड़ने की मशीन (Adding Machine) जैसे उपकरणों का प्रयोग किया जाता था,

इसलिए इसमें कम्प्यूटरों का प्रयोग प्रारम्भ होना आसान रहा। इसकी सफलता ने अन्य अनुप्रयोगों के लिए मार्ग दिखाया। वर्तमान में लगभग सभी तरह के व्यापारिक कार्यों का कम्प्यूटरीकरण हो चुका है और सभी छोटी–बड़ी कम्पनियाँ अपने कार्यों के लिए कम्प्यूटर पर निर्भर रहने लगी हैं। जिन व्यापारिक कार्यों का कम्प्यूटरीकरण किया जा चुका है, उनकी सूची बहुत लम्बी है, लेकिन मुख्यतः इनका प्रयोग वेतन गणना (Payroll) , कार्मिक प्रबन्धन (Personnel Management) , स्टॉक नियन्त्रण (Stock Control) , लेखांकन (Accounting) , वित्तीय संस्थाओं (Financial Institutions) , बैंकिंग उद्योग (Banking Industry) , बीमा (Insurance) आदि क्षेत्रों में सफलतापूर्वक किया जा रहा है।

कंप्यूटर का उपयोग औद्योगिक क्षेत्र में (In Industrial Field)

विभिन्न उद्योगों में कम्प्यूटर की सहायता से उत्पादन की योजना का समन्वय (Coordination) तथा नियन्त्रण का कार्य अधिक प्रभावशाली तरीके से किया जा सकता है। कम्प्यूटर की सहायता से किसी वस्तु के निर्माण के लिए विभिन्न मशीन टूल्स की क्रियाओं का निर्धारण किया जा सकता हैं, साथ ही विभिन्न पुर्जों को जोड़कर (Assemble) निर्माण का कार्य अच्छी तरह और कम समय में सम्पन्न किया जा सकता है।

इससे भी आगे बढ़कर कई जटिल मशीनों के कार्य का पूर्ण स्वचालन भी किया जा सकता है, जिसमें संख्या नियन्त्रित मशीनों (Numerically Controlled Machines) का प्रयोग किया जाता है। इनसे न केवल उत्पादित वस्तु की गुणवत्ता (Quality) बढ़ जाती है, बल्कि बेकार हो जाने वाले कच्चे या रद्दी माल (Scrap Wastage) की मात्रा भी कम की जा सकती है। विभिन्न प्रकार के उद्योगों में कम्प्यूटर, उत्पादन में अनेक प्रकार से सहायता कर सकता है। ऐसे कुछ प्रमुख उद्योगों के नाम इस प्रकार हैं-विद्युत (Electricity) , स्टील (Steel) , कागज एवं छपाई (Paper and Printing) आदि।

कंप्यूटर का उपयोग संचार एवं यातायात के क्षेत्र में (In Communication and Transportation Field)

कम्प्यूटर आजकल कहा जाता है कि दुनिया बहुत छोटी हो गई है। इस धारणा का कारण यह है कि आज हम पहले की अपेक्षा बहुत कम समय में एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुँच सकते हैं और हज़ारों मील दूर बैठे अपने मित्र या सम्बन्धी से तत्काल सम्पर्क स्थापित करके बात कर सकते हैं। संचार एवं यातायात के क्षेत्र में इस चमत्कारिक प्रगति के पीछे कम्प्यूटरों की ही भूमिका सर्वत्र दिखाई देती है। इन क्षेत्रों में कम्प्यूटरों का उपयोग मुख्यत: सड़क आवागमन नियन्त्रण (Road Traffic Control) , रेल यातायात (Railway Transport) , हवाई यात्रा (Air Travel) टेलीफोन (Telephone) , कम्प्यूटर नेटवर्क (Computer Network) आदि कार्यों में किया जा रहा है।

कंप्यूटर का उपयोग शिक्षा के क्षेत्र में (In Education Field)

शिक्षा के क्षेत्र में कम्प्यूटरों का उपयोग शिक्षण (Teaching) और प्रशिक्षण (Training) के विभिन्न कार्यों में एक सहायक साधन के रूप में किया जाने लगा है। लम्बे–चौड़े डेटा का विश्लेषण करने में कम्प्यूटरों की सहायता लेने से विद्यार्थियों का समय और श्रम बच जाता है। इतना ही नहीं, कम्प्यूटर स्वयं शिक्षक का स्थान ले सकता है। कम्प्यूटर एडिड इंस्ट्रक्शन (Computer Aided Instruction–CAI) तथा कम्प्यूटर असिस्टेड लर्निंग (Computer Assisted Learning–CAL) इसके मुख्य रूप हैं।

कंप्यूटर का उपयोग मनोरंजन के क्षेत्र में (In Entertainment Field)

मनोरंजन के क्षेत्र में कम्प्यूटरों का उपयोग बहुत व्यापक रूप में किया जाने लगा है। इनके द्वारा कार्टून फिल्में कम समय में और बहुत कम मेहनत से तैयार की जा सकती हैं, क्योंकि एक ही चित्र को विविध आकारों और स्टाइलों में सरलता से बदला जा सकता है। इसमें कम्प्यूटर ग्राफिक्स (Computer Graphics) का उपयोग किया जाता है। ग्राफिक्स की सहायता से फिल्मों में ऐसे विशेष प्रभाव (Special Effects) भी उत्पन्न किए जाते हैं, पहले सम्भव नहीं थे। कम्प्यूटरों द्वारा ही फिल्मों में विभिन्न दृश्यों में दूसरी भाषाओं के संवाद या उपशीर्षक (Sub–title) डालना सम्भव है। हमारे घरों में टेलीवीज़न पर जो भी सीरीयल तथा फिल्में आदि दिखाई जाती हैं, उनको तैयार करने में कम्प्यूटर का बहुत बड़ा योगदान होता है।

कंप्यूटर का उपयोग खेलों में (In Games)

कम्प्यूटर की सहायता से वीडियो गेम खेलनाअब पुरानी बात हो गई है। इस क्षेत्र में नई-नई सम्भावनाएँ पैदा होती रहती हैं। यूज़र बहुत से ऐसे अब कम्प्यूटर के पर्दे पर खेल सकते हैं, जो वास्तव में लम्बे-चौड़े मैदानों में खेले जाते हैं, जैसे-क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल, पोलो, टेनिस आदि। इसमें एनिमेशन (Animation) तकनीकों का प्रयोग किया जाता है। शतरंज जैसे दिमागी खेल खेलने वाले कम्प्यूटर अखबारों में सुर्खियाँ पाते रहे हैं, क्योंकि उन्होंने अपने समय के धुरन्धर खिलाड़ियों और विश्व चैम्पियनों को भी पराजित करने में सफलता प्राप्त की है।

खेलकूदों के टेलीविजन पर सजीव प्रसारण में भी कम्प्यूटर की प्रमुख भूमिका होती है। इसमें यूज़र प्रत्येक खिलाड़ी का चित्र सहित पुराना रिकॉर्ड तथा विभिन्न टीमों का इतिहास देख सकते हैं। इतना ही नहीं खेल के समय भी प्रत्येक नई घटना जैसे क्रिकेट में प्रत्येक गेंद का परिणाम, लगातार कम्प्यूटर में स्टोर किया जाता है, जिससे यूज़र किसी भी क्षण नवीनतम स्थिति को देख सकता है। खेलों का जो रीप्ले (Replay) दिखाया जाता है, वह भी कम्प्यूटर के कारण सम्भव होता है।

कंप्यूटर का उपयोग ई-गवर्नेस में (In E-Governance)

ई-गवर्नेस का अर्थ है इण्टरनेट, लोकल एरिया नेटवर्क (Local Area Network-LAN) जैसे आधुनिक सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के प्रयोग से सरकार की सूचना एवं सेवाओं को नागरिकों तक प्रस्तुत करना। इसमें सरकार द्वारा मोबाइल आदि प्रभावशाली माध्यम से दक्षता, सेवा प्रदान करने में सुविधा और लोकतन्त्र को बढ़ावा देने के लिए कम्प्यूटर व सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जा सकता है।

ई-गवर्नेस सरकार को नागरिकों के बीच सरकारी सेवा, सूचना, लेन-देन के संचार का आदान-प्रदान, विभिन्न प्रणालियों और सेवाओं को देने के लिए प्रयोग किया जाता सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के प्रयोग-सरकार से नागरिक (Government to Citizen) , सरकार से व्यापार (Government Business) , सरकार से सरकार (Government to Government) के लिए सरकारी कार्यालय से सम्बन्धित प्रक्रियाओं में किए जाते हैं। इसके माध्यम से एक सुविधाजनक, कुशल और पारदर्शी प्रणाली नागरिकों के लिए स्थापित होती है।

कंप्यूटर का उपयोग आरक्षण में (In Reservation)

यह कम्प्यूटर की उपयोगिता का साक्षात प्रमाण है कि हम प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इससे लगभग प्रतिदिन किसी-न-किसी रूप में जुड़े रहते हैं। आरक्षण की व्यवस्था में इसकी विशिष्ट भूमिका है। इसकी सहायता से हम घर में बैठे स्वयं या किसी प्रोफेशनल सर्विस प्रदाता की सहायता से आरक्षण करा सकते हैं। बस, रेल या हवाई यात्रा सम्बन्धी आरक्षण व्यवस्था का पूर्ण विवरण, इससे ज्ञात किया जा सकता है। आरक्षण की कम्प्यूटरीकृत व्यवस्था ने स्टेशनों पर लगने वाले जमघट को काफी हद तक कम कर दिया है।

विविध उपयोग (Miscellaneous Applications)

ऊपर बताए गए क्षेत्रों के अलावा भी कम्प्यूटर का उपयोग बहुत-से क्षेत्रों में किया जा रहा है; जैसे-पुस्तकालयों में पुस्तकों और सदस्यों की सूची और पुस्तकों के लेन-देन का हिसाब रखना, परीक्षाओं में परीक्षार्थियों तथा उनके प्राप्तांकों का सम्पूर्ण विवरण रखना और परिणाम छापना, एक भाषा से दूसरी भाषा में अनुवाद (Translate) करना आदि कार्य कम्प्यूटरों की सहायता से किए जा रहे हैं।

Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram

Leave a Comment

Trending Post

Request For Post