इथेरियम क्या है | Ethereum Kya Hai

वर्तमान समय में हर कोई अपने देश की करेंसी के अतिरिक्त क्रिप्टो करेंसी के बारे में जानने के लिए अत्यधिक रुचि ले रहा है। अगर आप क्रिप्टो करेंसी से जुड़ी जानकारी से अपडेट है तो आपको पता होगा इथेरियम एक प्रकार का क्रिप्टो करेंसी है इथेरियम बिटकॉइन के बाद मार्केट में सबसे ज्यादा लोकप्रिय क्रिप्टो करेंसी है।

यह मार्केट में बिटकॉइन के बाद अधिक मात्रा में उपयोग किया जा रहा है बहुत कम समय में यह पूरी दुनिया में अपनी पहचान बनाने में कामयाब की लिस्ट में सबसे सबसे आगे है। इस लेख में हम जानेंगे कि इथेरियम क्या है यह कैसे काम करता है?(Ethereum Kya Hai) इथेरियम के फायदे और नुकसान क्या-क्या है? तो चलिए इथेरियम क्या है? इस प्रश्न के साथ की शुरुआत करते हैं।

Ethereum Kya Hai

इथेरियम क्या है (Ethereum Kya Hai)

इथेरियम जिसे हम ईथर के नाम से भी जानते हैं। यह भी एक डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है। क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन की तरह, इथेरियम नेटवर्क या ईथर टोकन को भी किसी देश के सरकार या वित्तीय संस्थानों के द्वारा अधिकारिक रूप से नियंत्रित या जारी करने की अनुमति नहीं है।

बिटकॉइन की तरह यह भी एक ओपन सोर्स पब्लिक नेटवर्क है जिसे डेवलपर्स के द्वारा मैनेज किया जाता है। इसका ट्रांजैक्शन डिसेंट्रलाइज्ड पेमेंट नेटवर्क टेक्नोलॉजी के द्वारा होता है मतलब इसके लेनदेन में किसी भी देश के सरकार या किसी भी ब्रोकर का हस्तक्षेप नहीं होता है। इससे मनी को विश्व में कहीं भी किसी को भी बहुत ही तेजी के साथ और आसानी भेजी जा सकती है।

कॉइन मार्केट कैप, बाइनेंस तथा कॉइन बेस जैसी वेबसाइटों से प्राप्त डेटा के अनुसार इथेरियम, बिटकॉइन के बाद दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी डिजिटल क्रिप्टो करेंसी है।

इथेरियम का मालिक कौन है (Ethereum Ka Malik Kaun Hai)

इथेरियम के खोजकर्ता Vitalik Buterin 2011 से पहले बिटकॉइन में कंप्यूटर प्रोग्रामर एवं इन्वेस्टिंग का काम किया करते थे। इस दौरान उन्होंने बिटकॉइन और ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी को पूरी तरह से जान लिया था। Buterin यह भी जान चुके थे कि मनी ट्रेडिंग करने के लिए अलावा भी इस सिस्टम का प्रयोग दूसरे एप्लीकेशन में भी बेनिफिट लाने के लिए किया जा सकता है। जैसे स्टॉक और प्रॉपर्टी। क्योंकि ये ऐसे रियल वर्ल्ड Assets है जिनको ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी से जोड़ा जा सकता है।

यही नहीं Buterin का यह भी कहना था कि इस सिस्टम के डेवलपमेंट के लिए और अधिक Robust Scripting Language (एक कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज) पर काम करने की आवश्यकता है, जिससे ब्लॉकचेन सिस्टम को और अधिक यूनिक तथा सुरक्षित बनाया जा सके। परंतु जब इस तरह का प्लान लेकर Buterin बिटकॉइन के को-डेवलपर्स के पास गए तो उन्होंने इसे साफ मना कर दिया।

एग्रीमेंट न मिलने के कारण वह मायूस नहीं हुए क्योंकि उन्होंने सोच रखा था कि वह क्रिप्टो करेंसी की दुनिया में बदलाव लाकर ही रहेंगे। इसलिए वह स्वयं ही Robust Scripting Language पर काम करना शुरू कर दिया। आखिरकार जनवरी 2014 में मायामी के नॉर्थ अमेरिकन के बिटकॉइन कॉन्फ्रेंस में उन्होंने इथेरियम को लांच किया।

इथेरियम टॉप को-फाउंडर लिस्ट ( Ethereum Top Co Fonder List )

  • Gavin Wood
  • Charles Hoskinson
  • Anthony di iorio
  • Mihai Alisie
  • Joseph Lubin
  • Amir Chetrit 

इथेरियम को सिर्फ Vitalik Buterin ने ही अकेले नहीं बनाया था। इसे बनाने में ऊपर दिए गए लोगों ने भी सहयोग किया था। इन सब लोगों की Buterin से मुलाकात एक बिटकॉइन कॉन्फ्रेंस में हुई थी।

इथेरियम की विशेषता ( Ethereum Ki Visheshta )

  • इथेरियम बिटकॉइन की तुलना में ज्यादा यूनिक एवं सिक्योर है, क्योंकि इथेरियम के पास हाईली सिक्योर फाइनेंस टेक्नोलॉजी सिस्टम है।
  • इथेरियम सिर्फ एक क्रिप्टो करेंसी तक सीमित नहीं है, यह एक डिसेंट्रलाइज्ड एप्लीकेशन का प्लेटफार्म भी है।
  • इथेरियम के इस प्लेटफॉर्म मे म्यूजिक से लेकर इमेजेस तक सभी डिजिटल Assets सम्मिलित किए जा रहे हैं।
  • इथेरियम एक Non Fungible Token बनाता हैं जिसकी मदद से बहुत सारे डिसेंट्रलाइज्ड ऐप (म्यूजिक से लेकर इमेजेस तक) खरीदने की सुविधा देता है।
  • इथेरियम बिना किसी बैंक या ब्रोकर की हस्तक्षेप के लोगों को उधार देगा और सेविंग में मदद करेगा।
  • इथेरियम के पास ब्लॉकचेन और डीसेंट्रलाइज फाइनेंस जैसी हाईली सिक्योर फाइनेंस टेक्नोलॉजी सिस्टम नेटवर्क है, यह सिस्टम फाइनेंसर वर्ल्ड में बहुत सारे चेंजर्ज ला सकता है।

इथेरियम कैसे काम करता है ( Ethereum Kaise Kam Karta Hai )

इथेरियम नेटवर्क पर आधारित एप्लीकेशन नए ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी पर बनाए गए हैं। इस नेटवर्क पर आधारित एप्लीकेशन को बनाने के लिए स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का उपयोग किया गया है। स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट का काम खरीदने और बेचने वालों की पहचान किसी तीसरे व्यक्ति या ब्रोकर को बताएं बिना दोनों के बीच होने वाले लेनदेन की प्रक्रिया को सुरक्षित रूप से पूर्ण कराना है। स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट इस बात को भी सत्यापित करता है कि दो व्यक्तियों के बीच होने वाले लेन-देन में किसी भी तीसरे व्यक्ति या ब्रोकर की आवश्यकता नहीं हैं।

Read More: डॉज कॉइन क्या हैं

इथेरियम के फायदे क्या है ( Ethereum Ke Fayde Kya Hai)

  • यह एक ऐसा डिसेंट्रलाइज पेमेंट नेटवर्क है जिसके पास अपनी खुद की क्रिप्टो करेंसी हैं।
  • इथेरियम की मदद से दुनिया में किसी को भी किसी वित्तीय संस्थाओं (बैंक) या किसी थर्ड पार्टी (ब्रोकर) के ऊपर निर्भरता के बिना क्रिप्टो कॉइन से संबंधित लेनदेन किया जा सकता है।
  • इथेरियम क्रिप्टो करेंसी लेन-देन के लिए ही नहीं, यह कई अन्य प्लेटफार्म के लिए भी यूज़ किया जा सकता है।
  • इथेरियम डिसेंट्रलाइज्ड ऐप को बनाने से लेकर इंश्योरेंस खरीदने तक सभी चीजों की सुविधा देता है।

इथेरियम के नुकसान क्या है (Ethereum Ke Nuksan Kya Hai )

  • इथेरियम भी दूसरे क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन की तरह ही व्यवहार करता है, इसमें भी ऊर्जा की खपत अधिक होती है।
  • इथेरियम भी अन्य करेंसी की तरह डिजिटल करेंसी के रूप में है, जिसके कारण इसे हैक किया जा सकता है।
  • इथेरियम भी डिजिटल नेटवर्क पर काम करता है। इसमें भी अगर यूजर अपने अकाउंट से संबंधित पासवर्ड भूल जाता है तो अपने सारे एथेरियम को इनको खो देता है।
  • कभी-कभी इथेरियम नेटवर्क पर ज्यादा लेनदेन होने के कारण सिस्टम क्रैश होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • इथेरियम डिसेंट्रलाइज ऐप बनाने में मदद करता है। डिसेंट्रलाइज्ड ऐप्स पर भी किसी भी देश का नियंत्रण न होने के कारण इसके दुरुपयोग होने की संभावना बढ़ जाती हैं।

बिटकॉइन और इथेरियम में अंतर क्या है (Bitcoin Ethereum Mein Antar Kya Hai )

मार्क क्यूबान एक अमेरिकन मिलियनर Entrepreneur (जब बिजनेस की दुनिया में अपना खुद का स्टार्टअप शुरू करते हैं और उसमें सफल होते हैं) हैं, जिन्होंने बिटकॉइन और एथेरियम दोनों में इन्वेस्ट किया है। मार्ग क्यूबान का मानना है कि बिटकॉइन एवं अन्य क्रिप्टो करेंसी की तुलना में एथेरियम में अधिक बेहतर ब्लॉकचेन सिक्योरिटी है।

बिटकॉइन और इथेरियम में निम्नलिखित अंतर है

बिटकॉइनइथेरियम
बिटकॉइन केवल एक क्रिप्टो कॉइन है।जबकि इथेरियम क्रिप्टो कॉइन होने के साथ-साथ एक ऐप प्लेटफार्म भी है।
बिटकॉइन में ट्रांजैक्शन करने में थोड़ा समय लगता है।जबकि इथेरियम में ट्रांजैक्शन बहुत तेजी के साथ होता है।
बिटकॉइन केवल एक मनी ट्रांजैक्शन प्लेटफार्म है।इथेरियम मनी ट्रांजैक्शन के साथ-साथ डिसेंट्रलाइज्ड ऐप बनाने का भी प्लेटफार्म है।
सुरक्षा के नजरिए से बिटकॉइन में ट्रांजैक्शन कम सुरक्षित है।जबकि इथेरियम के पास लेनदेन के लिए हाईली सिक्योर फाइनेंस टेक्नोलॉजी सिस्टम है। जो इथेरियम को बेहतर बनाती है।
बिटकॉइन को मुख्य रूप से लेनदेन से संबंधित डेटा स्टोर के रूप में जाना जाता है।जबकि इथेरियम को लेनदेन से संबंधित डेटा को स्टोर के अलावा अन्य बहुत सारी सुविधाओं को देने के रूप में जाना जाता है।
बिटकॉइन के पास अपनी स्वयं की कोई भी पेमेंट नेटवर्क सिस्टम नहीं है।जबकि इथेरियम के पास अपनी खुद की एक पेमेंट नेटवर्क सिस्टम है।

इथेरियम का भविष्य क्या है ( Ethereum Ka Bhavishya Kya Hai )

बीते कुछ सालों से इथेरियम का मूल्य बिटकॉइन की तुलना में बहुत तेजी से बढ़ रहा है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि इथेरियम लोगों को कॉइन इन्वेस्टिंग के अलावा भी एक बेहतर मनी पेमेंट नेटवर्क और डिसेंट्रलाइज एप्लीकेशन बनाने एवं उसे सुरक्षित रखने का प्लेटफार्म प्रदान करता है।

इथेरियम दिन प्रतिदिन पापुलर होता चला जा रहा है। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के फाउंडर एंड सीईओ बिल गेट्स एवं अन्य कंपनियों ने इथेरियम की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए इसमें इन्वेस्ट किया है। इन सब तथ्यों को देखते हुए आम निवेशक एवं व्यापारी भी इसमें इन्वेस्टिंग को लेकर इंटरेस्ट दिखा रहे हैं, और इन्वेस्ट भी कर रहे हैं। यही कारण है कि इथेरियम की कीमत लगभग दुगनी तेजी के साथ बढ़ रहा है। 

चूंकि इथेरियम रियल वर्ल्ड ऐसेट्स पर भी काम करता है जिसके कारण इसमें इन्वेस्टमेंट करने वाले इन्वेस्टर्स इस पर भरोसा करने लगे हैं। बीते कुछ वर्षों में इसमें इन्वेस्ट करने वाले इन्वेस्टर्स को यह ज्यादा से ज्यादा रिटर्न भी दिया है।

कॉइन मार्केट कैप, बाइनेंस तथा कॉइन बेस जैसी वेबसाइटों से प्राप्त डेटा के को ध्यान में रखते हुए कुछ लोगों का मानना है कि आने वाले समय में इथेरियम बिटकॉइन को भी पछाड़ सकता है। क्योंकि बीते कुछ सालों में बिटकॉइन की ग्रोथ लगभग 85.6% थी, जबकि इथेरियम ग्रोथ लगभग 196.8% से भी अधिक थी।

इथेरियम का भारत में भविष्य क्या है ( Ethereum Ka Bharat Mein Bhavishya Kya Hai )

बीते कुछ वर्षों में इथेरियम के ग्रोथ में आयी वृद्धि एवं बड़ी-बड़ी कंपनियों के इन्वेस्टमेंट को देखते हुए भारत में भी कुछ निवेशक इथेरियम में इन्वेस्ट को लेकर रुचि दिखा रहे हैं। इथेरियम की ग्रोथ रेट लगभग दुगनी है। जिसके कारण इसमें इन्वेस्टमेंट करने में लोगों को किसी प्रकार का ज्यादा जोखिम की संभावना नहीं दिख रहा है।

भारत के जिन चुनिंदा व्यापारी एवं इन्वेस्टर्स ने इसमें इन्वेस्ट किया था उन सभी लोगों को इथेरियम ने लगभग दुगुना से भी अधिक रिटर्नस दिया है। इन सब कारणों को देखते हुए भारत के आम निवेशक एवं व्यापारी भी अब इसमें इंटरेस्ट लेना शुरू कर दिया है।

इथेरियम कैसे खरीदें ( Ethereum Kaise Kharide )

  • इथेरियम खरीदने के लिए पॉपुलर ऐप WazirX, CoinSwitch Kuber, CoinDCX, Binance मे सबसे पहले आपको एक अकाउंट खोलना होगा।
  • इन ऐप्स में अकाउंट खोलने के लिए सबसे पहले क्रिएट न्यू अकाउंट या साइन अप पर क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद उसमें अपनी डिटेल भरनी होगी।
  • डिटेल भरने के बाद आपको जरूरी केवाईसी वेरीफिकेशन करानी पड़ती है।
  • केवाईसी वेरीफिकेशन पूरा होने के बाद अकाउंट को किसी स्ट्रांग पासवर्ड से सुरक्षित करना पड़ता है।
  • अब उस अकाउंट से आप इथेरियम खरीद सकते हैं।

WazirX से इथेरियम कैसे खरीदें ( WazirX Se Ethereum Kaise Kharide )

WazirX सबसे पापुलर क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज ऐप में से एक है। जो यूजर को इन्वेस्टिंग एवं ट्रेडिंग की सुविधा प्रदान करता है। WazirX का इस्तेमाल करके आप एथेरियम को खरीद एवं बेच सकते हैं।

तो आइए जानते हैं WazirX इथेरियम कैसे खरीदें? इसको खरीदने के लिए जरूरी स्टेप्स क्या-क्या है?

  • सबसे पहले आपको अपने मोबाइल या लैपटॉप के प्ले स्टोर, ऐप स्टोर या IOS स्टोर पर जाकर वजीरएक्स एप्स को डाउनलोड करना होगा।
  • ऐप्स डाउनलोड करके उसे अपने मोबाइल में इंस्टॉल करना होगा।
  • उसके Sign Up Now बटन पर क्लिक करके, अकाउंट क्रिएट करना होगा।
  • अकाउंट क्रिएट करने के लिए आप अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अकाउंट क्रिएशन में अपना डिटेल भरने के बाद आपको ईमेल या मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन के लिए एक ओटीपी नंबर आएगा वह नंबर डालकर अकाउंट को वेरीफाई करना होगा।
  • ईमेल या मोबाइल नंबर वेरीफाई होने के बाद आपके पास अकाउंट सक्सेसफुली बनने का मैसेज आ जाएगा।
  • अकाउंट सक्सेसफुली बनने के बाद आपको केवाईसी वेरीफाई कराना पड़ता है जिसमें आवश्यक दस्तावेज की जरूरत पड़ती है, जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड।
  • अकाउंट में केवाईसी वेरीफाई करने के लिए आपको अपने आधार कार्ड और पैन कार्ड सही डिटेल्स भरकर उसका एक फोटो भी अपलोड करना पड़ता है।
  • अकाउंट में केवाईसी वेरीफाई होने के बाद आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर एवं आईएफएससी कोड को ऐड करना पड़ता है।
  • इसके बाद फंड ट्रांसफर पर क्लिक करके आप अपनी इच्छा के अनुसार इथेरियम खरीद सकते हैं।

CoinSwitch Kuber से इथेरियम कैसे खरीदें ( CoinSwitch Kuber Se Ethereum Kaise Kharide )

CoinSwitch Kuber एक क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज प्लेटफार्म है। जिसके उपयोग से आप इथेरियम खरीद सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि CoinSwitch Kuber से इथेरियम कैसे खरीदें?

  • सबसे पहले आपको CoinSwitch Kuber ऐप को प्ले स्टोर से डाउनलोड करना होगा।
  • उसके बाद CoinSwitch Kuber ऐप में एक अकाउंट बनाना होगा।
  • अकाउंट बनाने के लिए आपको कुछ आवश्यक डिटेल्स भरने होंगे जैसे नाम, पता, आप किस देश के निवासी हैं इत्यादि।
  •  अकाउंट बनाने के लिए आपको मोबाइल नंबर ईमेल आईडी का प्रयोग करना होगा जो एक ओटीपी भेज कर वेरीफाई करेगा।
  • मोबाइल नंबर वेरीफाई करने के बाद आपका अकाउंट क्रिएट हो जाएगा।
  • इसके बाद आपको अपना केवाईसी अपडेट करना होगा केवाईसी अपडेट के लिए आपको आधार कार्ड पैन कार्ड की आवश्यकता होती है।
  • केवाईसी वेरीफाइड होने के बाद आपको अपना बैंक अकाउंट ऐड करना पड़ता है।
  • अब आप इस अकाउंट का प्रयोग करके अपनी इच्छा अनुसार इथेरियम खरीद एवं भेज सकते हैं।

CoinDCX से इथेरियम कैसे खरीदें? ( CoinDCX Se Ethereum Kaise Kharide )

CoinDCX भी WazirX, CoinSwitch Kuber की तरह ही क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज प्लेटफार्म है। किसके माध्यम से किसी कंपनी के शेयर या क्रिप्टो कॉइन खरीदे बेचे जा सकते हैं। आइए जानते हैं कि CoinDCX से इथेरियम कैसे खरीदें-

  • इसके लिए सबसे पहले आपको CoinDCX ऐप को अपने एंड्राइड मोबाइल या लैपटॉप में इंस्टॉल करना होगा।
  • ऐप इंस्टॉल होने के बाद आपको उसमें एक अकाउंट बनाना होगा।
  • इस ऐप में अकाउंट बनाने के लिए आपको क्रिएट ए न्यू अकाउंट या साइन अप बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जहां पर एक पेज ओपन होगा जिसमें आपको अपनी डिटेल भरने होंगे।
  • डिटेल वेरीफाई होने के बाद आपको केवाईसी वेरीफिकेशन के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड का डिटेल भरकर वेरीफाई करना होगा।
  • केवाईसी वेरीफाइड होने के बाद आपको अपने डिटेल को सुरक्षित रखने के लिए एक मजबूत पासवर्ड बनानी पड़ती है।
  • पासवर्ड डालने के बाद अकाउंट क्रिएट हो जाता है।
  • अब आप इस अकाउंट से आप ट्रेडिंग एवं इन्वेस्टिंग कर सकते हैं।

Binance से इथेरियम कैसे खरीदें? ( Binance Se Ethereum Kaise Kharide )

क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज मार्केट के नजरिए से Binance सबसे लोकप्रिय इजी टू यूज़ एवं सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाला एक्सचेंज ऐप् है। आइए जानते हैं कि Binance से इथेरियम कैसे खरीदें-

  • सर्वप्रथम आपको Binance ऐप को अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप में डाउनलोड करना होगा।
  • Binance ऐप डाउनलोड करने के बाद उसे इंस्टॉल करना होगा।
  • ऐप इंस्टॉल होने के बाद उसमें एक अकाउंट बनाना होगा।
  • इस ऐप में अकाउंट बनाने के लिए आपको साइन अप बटन क्लिक करना होगा।
  •  उसमें आपको अपनी डिटेल भरने होंगे। साथ ही साथ मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी भी भरना होगा।
  • मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पर ओटीपी भेज कर अकाउंट वेरीफाई किया जाएगा।
  •  अकाउंट वेरीफिकेशन के बाद आप को केवाईसी वेरीफिकेशन करना पड़ता है।
  • केवाईसी वेरीफाइड होने के बाद अकाउंट क्रिएट हो जाता है।
  • अब आप इस अकाउंट का इस्तेमाल कर सकते हैं।

प्रश्न: इथेरियम कब लांच हुआ था?

उत्तर: जनवरी 2014 में मायामी के नॉर्थ अमेरिकन के बिटकॉइन कॉन्फ्रेंस में Vitalik Buterin ने इथेरियम को लांच किया।

प्रश्न: इथेरियम कॉइन की कीमत क्या है?

उत्तर: इथेरियम कॉइन की कीमत भी दूसरे क्रिप्टो करेंसी की तरह ऊपर नीचे और बढ़ती घटती रहती है। इसलिए इसकी सही कीमत का अंदाजा लगा पाना लगभग असंभव है। इस लेख को लिखे जाने तक एथेरियम कॉइन की कीमत लगभग 2108.85 डॉलर है।

Scroll to Top